भारतीय संग्रहालय कोलकाता के बारे में जानकारी- Indian Musuem Kolkata in Hindi
कोलकाता

भारतीय संग्रहालय कोलकाता के बारे में जानकारी- Indian Musuem Kolkata in Hindi

Travel Raftaar

कोलकाता में स्थित भारतीय संग्रहालय (Indian Musuem, Kolkata) भारत का सबसे बड़ा और एशिया के सबसे पुराने संग्रहालयों में से एक है। यहां इतिहास से संबंधित कई प्राचीन वस्तुएं संजो के रखी गई हैं। राजा-महाराजाओं के समय से भी पहले की चीजों को इतने पास से देखना पर्यटकों के लिए एक शानदार अनुभव होता है। खुद में प्राचीन संस्कृति, इतिहास तथा प्राकृतिक विज्ञान को समेटे हुए यह संग्रहालय ज्ञान का सागर प्रतीत होता है। यहां 5वीं ईसा पूर्व से 17वीं शताब्दी तक के पुरातत्त्व खंड, विभिन्न प्रकार की कला का प्रदर्शन करने वाले चित्र, वस्त्र, वनस्पतियां, जीव जंतु आदि का बेमिसाल संग्रह प्रदर्शित किया गया है जो पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती हैं। इसे जादू घर (Jadu Ghar) के नाम से भी जाना जाता है।

भारतीय संग्रहालय का इतिहास - History of Indian Museum in Hindi      

भारत के इस सबसे बड़े संग्रहालय की नींव डॉ. नाथनील वालिक (Dr Nathaniel Wallich) नामक एक वनस्पतिशास्त्री (Botanist) ने रखी थी। इसकी स्थापना वर्ष 1814 ईस्वी में की गई थी। हालाँकि इसमें रखे गए अवशेषों का संग्रहण कार्य 1796 ईस्वी से ही शुरु हो चुका था। इस संग्रहालय को अस्तित्व में लाने का एक बड़ा योगदान एशियाटिक सोसायटी (Asiatic Society) का भी रहा है। 

भारतीय संग्रहालय मे क्या देखे -

संग्रहालय में चार हजार वर्ष पुराना पुराशव (Human Mummy) और एक कलश रखा हुआ है। माना जाता है कि यहां रखे गए कलश में महात्मा बुद्ध की अस्थियों का अवशेष है।  

भारतीय संग्रहालय सलाह -

  • संग्रहालय पर्यटकों के लिए सुबह 10 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक खुला रहता है। लेकिन दिसंबर से फरवरी तक यह सुबह दस बजे से शाम 4.30 बजे तक ही खुलता है

  • संग्रहालय हर सोमवार के साथ- साथ सरकारी छुट्टियों के दौरान भी बंद रहता है जैसे होली, दीवाली, गांधी जयंती, दशहरा आदि

  • यहां भारतीय तथा विदेशी पर्यटकों के लिए अलग- अलग प्रवेश शुल्क है

  • भारत के सबसे बड़े म्यूजियम की यात्रा को यादगार बनाने के लिए आप यहां कैमरा ले जा सकते हैं