मुंबई

मुंबई

मुंबई (Mumbai) महाराष्ट्र राज्य की राजधानी है। मुंबई शहर का नाम सुनते ही फिल्मी दुनिया की चकाचौंध, आकर्षक जीवनशैली और फैशन के नए- नए नजारे आंखों के सामने आ जाते हैं। मुंबई शहर जिसने मौर्य से लेकर मराठा, पुर्तगाली और अंग्रेजों तक के शासनकाल का अनुभव लिया है, उसके साक्ष्य आज भी यहाँ की कई इमारतों में देखने को मिलते हैं फिर चाहे वह गेटवे ऑफ़ इंडिया हो या सिद्धिविनायक मंदिर हो या फिर छत्रपति शिवाजी टर्मिनस।

फ़िल्मी दुनिया के बिना मुंबई का परिचय अधूरा है। मुंबई को सपनों की नगरी क्यों कहा जाता है उसका अंदाजा आप यहाँ बॉलीवुड की जानी-मानी हस्तियों के घर और उसके आगे लगी चाहनेवालों (Fans) की लाइन को देखकर लगा सकते हैं, जो कलाकारों को देख लेने या उन्हीं की तरह बनने का सपना लिए यहाँ आते हैं।

जहाँ गगनचुम्बी इमारतें इस शहर की आधुनिकता का प्रतीक हैं वहीँ दही हांडी और गणेश उत्सव की धूम यहाँ की धार्मिक छवि को उजागर करती है। हाजी अली दरगाह में मन्नतों के धागे हों या लक्ष्मी मंदिर में कतार में खड़े लोग, जुहू चौपाटी में स्ट्रीट फ़ूड की महक हो या शाम के वक्त समुद्र के आगोश में समाता सूरज, ये सब इस शहर की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में भी सुकून के कुछ पल दे जाते हैं।

मुंबई के बारे मे

मुंबई में वैसे तो बहुत से प्रसिद्ध बाजार हैं। लेकिन फिर भी खरीदारी के लिए कुछ बाजार बहुत ही मशहूर हैं। इनमें कोलाबा पक्की सड़क में जरुरत की हर चीज असानी से मिल जाती है। चोर बाजार में सस्ती चीजें मिल जाती हैं। लिंकिंग रोड पर स्थित बाजार डिजाईनर कपड़ों, जूतियों तथा विभिन्न प्रकार की जूलरी के लिए प्रसिद्ध है।

मुंबई की यात्रा सुविधाएं

  • मुंबई में स्थित बीच का भरपूर आनंद उठाना चाहते हैं तो आपको थोड़ी सावधानी भी बरतनी होगी। इसमें जरुरी है कि समुद्री लहरों से दूरी बनाए रखें
  • कहीं भी यात्रा करते समय जरुरी है कि आप अपने निजी वस्तुओं का स्वयं ध्यान रखें
  • मुंबई में पीने के लिए हमेशा सील पैक पानी की बोतल का ही प्रयोग करें

मुंबई का इतिहास

मुंबई शहर को पहले बॉम्बे (Bombay) नाम से जाना जाता था। इस शहर को "बॉम्बे" नाम एक ब्रिटिश शासक ने दिया था। "बॉम्बे" शब्द पुर्तगाली भाषा से निकला है जिसका अर्थ "अच्छी खाड़ी" है। प्राचीन तथ्यों के अनुसार मौर्य वंश, सिल्हारा वंश, पुर्तगालियों तथा ब्रिटिश सरकार ने मुंबई पर शासन किया था। मुंबई में ही भारत की प्रथम यात्री रेलवे लाइन बिछाई गई थी।

मुंबई की सामान्य जानकारी

  • राज्य- महाराष्ट्र
  • स्थानीय भाषाएँ- हिन्दी, मराठी, अंग्रेज़ी
  • स्थानीय परिवहन- बस, टैक्सी, ऑटोरिक्शा, फेरी, लोकल ट्रेन, मैट्रो
  • पहनावा- महाराष्ट्र के पुरुष पहले धोती के साथ (फेटा)शर्ट और महिलाएं चोली और साड़ी पहनती थी। लेकिन समय के साथ- साथ पश्चिमी पहनावे ने यहाँ अपनी पकड़ जमाई और आज के समय में पुरूष जींस और शर्ट, शॉर्ट्स, टी-र्शट और महिलाएं जींस, स्कर्ट, साड़ी और लहंगा पहनती हैं। महाराष्ट्र की महिलाएं खास तौर पर पारंपरिक हार पहनती है जिसे कोल्हापुरी साज के नाम से जाना जाता है।
  • खान-पान- मुंबई में फाइव स्टार होटल से लेकर छोटे- मोटे फूड स्टॉल्स देखने को आसानी से मिल जाते हैं। मुंबई का वड़ा पाव सबसे प्रसिद्ध है। इसके अलावा यहां नॉर्थ-इंडियन, साऊथ इंडियन, चाइनीज़, थाई, मुगलई जैसे अनेक प्रकार के खाने के आसानी से मिल जाएंगे। साथ ही आप स्ट्रीट फूड जैसे पाव भाजी, पानी पूरी, भेलपुरी आदि का आनंद उठा सकते हैं।