जाखू मंदिर के बारे में जानकारी - Jakhu Temple in Hindi

जाखू मंदिर के बारे में जानकारी - Jakhu Temple in Hindi

शिमला में स्थित सबसे प्रसिद्ध स्थलों में से एक है जाखू मंदिर (Jakhu Temple)। शिमला की सबसे ऊंची चोटी पर स्थित यह मंदिर भगवान हनुमान को समर्पित है। यहाँ देवदार के पेड़ों के बीच भगवान हनुमान की करीब 33 मीटर ऊंची प्रतिमा है जो शिमला शहर के किसी भी कोने से देखी जा सकती है।

यह मंदिर समुद्र तल से करीब 2455 मीटर की ऊंचाई पर है। द रिज़ से मंदिर की यात्रा करते हुए पर्यटक प्रकृति के कई सुंदर और अनुपम सौन्दर्य से रु-ब-रु होते हैं। जाखू की ऊँची पहाड़ी से शिमला के बर्फ से ढके पहाड़ों, हरी-भरी वादियों और पूरे शहर का अद्भुत नज़ारा देखा जा सकता है।

जाखू मंदिर का इतिहास - History of Jakhu Temple

पौराणिक मान्यता के अनुसार, भगवान श्री राम के भाई लक्ष्मण के प्राणों की रक्षा हेतु हनुमान जी संजीवनी बूटी का पूरा पहाड़ ले आये थे। जब पुनः वे इस पहाड़ को रखने उसके वास्तविक स्थान पर जा रहे थे तब उन्होंने कुछ देर के लिए जाखू पहाड़ी पर विश्राम किया था, यह मंदिर उनके पदचिन्हों पर बनाया गया है।

जाखू मंदिर मे क्या देखे -

जाखू पहाड़ी पर स्थित भगवान हनुमान की प्रतिमा भारत में हनुमान जी की तीसरी सबसे ऊँची मूर्ति है।

जाखू मंदिर सलाह -

  • पहाड़ी पर बन्दर होते हैं इसलिए खाने-पीने का सामान साथ न रखें
  • हनुमान मंदिर के साथ ही कार्तिकेय भगवान का मंदिर भी है
  • पैदल यात्रा करने में असमर्थ व्यक्ति मंदिर तक पहुँचने के लिए वाहन का इस्तेमाल कर सकते हैं
No stories found.