इलाहाबाद के बारे में जानकारी - Allahabad in Hindi
उत्तर प्रदेश

इलाहाबाद के बारे में जानकारी - Allahabad in Hindi

Travel Raftaar

इलाहाबाद (Allahabad), उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित हिन्दुओं का एक महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है। तीर्थराज अर्थात तीर्थों का राजा कहे जाने वाले इस शहर का प्राचीन नाम "प्रयाग" था। इसके अलावा इस शहर की प्रसिद्धि का एक मुख्य कारण यहाँ 12 वर्ष में एक बार लगने वाला कुंभ मेला है। "गंगा, यमुना और सरस्वती के संगम का यह स्थल जितना पवित्र है उतना ही खूबसूरत भी है। मौर्य एवं गुप्त साम्राज्य से लेकर मुग़ल साम्राज्य तक समृद्धशाली इतिहास से भरा हुआ यह शहर प्राचीन काल की कई महत्वपूर्ण घटनाओं को अपने अंदर समेटे हुए है। पर्यटक यहाँ इलाहाबाद का किला, पातालपुरी मंदिर, अशोक स्तम्भ, अक्षय वट, आनंद भवन, जवाहर तारामंडल आदि स्थानों की खूबसूरती को निहार सकते हैं।

इलाहाबाद के बारे मे -

चौक, सिविल लाइंस और कटरा इलाहाबाद शहर के मुख्य बाजार हैं जहां से पर्यटक पूजा की सामग्री, ज्वैलरी, हस्तशिल्प का सामान और प्राचीन वस्तुओं को उचित कीमत पर खरीद सकते हैं।

इलाहाबाद की यात्रा सुविधाएं -

  • यदि आप कुंभ मेले के दौरान यहां की यात्रा कर रहे है तो ध्यान रहे राज्य सरकार द्वारा (Plastic bags) प्लास्टिक की थैलियों पर प्रतिबंध लगा हुआ है तो, इलाहाबाद में प्लास्टिक की थैलियों का प्रयोग बिल्कुल न करें

  • घाट पर भीख मांगने वालों को पैसे देकर उन्हें प्रोत्साहित न करें

  • शहर में यात्रा करते समय नदियों में पूजा की सामग्री न बहाएं

इलाहाबाद का इतिहास -

इलाहाबाद, इस शहर का वर्तमान नाम है, जो अकबर द्वारा सन् 1583 में रखा गया था। सन् 1526 के मुगल आक्रमल के बाद इलाहाबाद मुगलों के अधीन हो गया था। यहाँ पर कई बार मराठों ने आक्रमण कर उस पर कब्जा करने का प्रयास किया किया था। अंत में इलाहाबाद पर अंग्रजों का शासन हो गया। स्वतंत्रता संग्राम में इस स्थान की एक महत्वपूर्ण भूमिका थी। सन् 1857 में हुए प्रथम भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में इलाहाबाद भी शामिल था। भारत के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरु भी यही के रहने वाले थे।

इलाहाबाद की सामान्य जानकारी -

  • राज्य - उत्तर प्रदेश 

  • स्थानीय भाषाएँ - हिन्दी और अंग्रेजी 

  • स्थानीय परिवहन - ऑटो रिक्शा, बस, कैब, टैक्सी और साईकल रिक्शा 

  • पहनावा - इलाहाबाद की महिलाएं आमतौर पर साड़ी और सूट पहनती हैं। यहां की युवा लड़कियां पश्चिमी पोशाक जैसे जीस, टी- शर्ट आदि भी पहनती हैं। यहाँ के पुरुष दैनिक जीवन में पैंट- शर्ट और जींस पहनते हैं। लेकिन विशेष अवसरों जैसे विवाह या त्योहार आदि पर धोती- कुर्ता, शेरवानी आदि पहनते हैं।

  • खान-पान - इलाहाबाद में पर्यटक मसालेदार चाट से लेकर से कॉन्टिनेंटल डिश (Continental dish) तक का स्वाद उठा सकते हैं। इसके अलावा यहाँ के लोग समोसा, रबड़ी, कचौड़ी आदि बड़े चाव के साथ खाते हैं। इसके साथ ही यात्री यहां दक्षिण भारतीय भोजन (South Indian food) मक्खन मसाला डोसा का स्वाद भी ले सकते हैं। यहाँ के अमरूद दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं।

इलाहाबाद कैसे पहुंचें -

  • हवाई मार्ग - By Flight

इलाहाबाद का नजदीकी हवाई अड्डा 'इलाहाबाद (Allahabad Airport)' है, जो शहर के केंद्र से लगभग 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। यहां से पर्यटकों को आसानी से टैक्सी, बस और ऑटो रिक्शा मिल जाता है।

  • रेल मार्ग - By Train

यदि पर्यटक इलाहाबाद रेलमार्ग द्वारा जाना चाहते है तो इसके सबसे नजदीक इलाहाबाद जंक्शन (Allahabad Junction) है जो शहर से 2 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जहाँ से पर्यटक चाहे तो रिक्शा ले सकते हैं, या पैदल भी आ सकते हैं।

  • सड़क मार्ग - By Road

इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश के कई बड़े शहरों जैसे झांसी, गोरखपुर, कानपुर, लखनऊ आदि से उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (Uttar Pradesh State Road Transport Corporation) द्वारा बहुत अच्छी तरह जुड़ा हुआ है।

इलाहाबाद घूमने का समय -

इलाहाबाद घूमने के लिए सबसे उत्तम समय अक्टूबर से मार्च है। इस दौरान यहाँ का मौसम सुखद और पर्यटन स्थलों का भ्रमण के लिए आदर्श होता है। पर्यटक चाहें तो यहां के क्षेत्रीय उत्सवों और मेलों में हिस्सा लेने के लिए किसी भी मौसम में आ सकते हैं।

Raftaar
women.raftaar.in