Go To Top
Raftaar HomeRaftaar Home
Search
Menu
`
Menu
close button
Puri

पुरी की यात्रा Puri Travel Guide

पुरी (puri)

भारत देश के चार प्रमुख धामों में से एक और भगवान जगन्नाथ का वासस्थल पुरी (Puri), उड़ीसा राज्य में स्थित है। श्री कृष्ण के अवतार भगवान जगन्नाथ के इस धाम को किसी भी परिचय की आवश्यकता नहीं है। ये शहर श्रद्धालुओं और मनोरंजक प्रेमी दोनों तरह के पर्यटकों का स्वागत करता है। एक ओर जहाँ जगन्नाथ मंदिर में गूंजते जयकारें हैं तो वहीं दूसरी ओर चिल्का लेक में प्रवासी पक्षियों का जमावड़ा और मीलों तक फैला रेतीला समुद्र तट।

जगन्नाथ मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ के बीच दर्शन करने के बाद, पूरी बीच के डूबते सूरज का नज़ारा देखने को मिल जाये तो यकीनन आपका दिन सम्पूर्ण सिद्ध हो सकता है। यदि खरीदारी के शौक़ीन हैं तो स्वर्गद्वार मार्किट में, एक यादगार वस्तु तो मिल ही जाएगी, इसके अलावा गुंडीचा मंदिर और लोकनाथ मंदिर के दर्शन भी कर सकते हैं।

अपने इतिहास, धार्मिक महत्व, अभ्यारणों, विशेष वास्तुकाला और सामान्य जलवायु के कारण प्रतिवर्ष ये शहर देसी-विदेशी पर्यटकों से भरा रहता है। नए उत्साह-ताज़गी और आध्यात्मिक शांति के लिए पुरी का भ्रमण अवश्य करें।

पुरी का इतिहास History of Puri

इतिहास के अनुसार, मूल रूप से इस सघन वन क्षेत्र को द्रविड़ और आर्य से भी पहले "सबारस"(Sabaras) जो एक आदिवासी समूह था के द्वारा बसाया गया था। माना जाता है कि मूल रूप से यह जाति भगवान जगन्नाथ की पूजा "नीलामाधब"(Nilamadhab) के रूप में करती थी, जिसकी मूर्ति वे लाल वृक्ष के तने से बनाते थे, बाद में ब्राह्मणों द्वारा देवता को अपनाया गया।

आठवीं शताब्दी में जगद्गुरु शंकराचार्य (Shankaracharya) ने यहाँ अपने चार मठों में से एक मठ की स्थापना की। साल 1135 में गंग वंश के शासक अनंतवर्मन चोडगंग द्वारा यहाँ भगवान् पुरुषोत्तम को समर्पित एक मंदिर की स्थापना की गई और 15वीं शताब्दी में गजपति शासकों के समय में इसका नाम बदलकर जगन्नाथ कर दिया गया।

मुगलों और मराठों के साथ ही ब्रिटिश शासकों के आधिकारिक दस्तावेजों में भी पुरी को पुरुषोत्तम क्षेत्र (Purushottam Kshetra) के नाम से संबोधित किया गया है, यहाँ तक कि योगिनीतंत्र और कल्किपुराण में भी इस शहर का वर्णन पुरुषोत्तम नाम से मिलता है।

पुरी की सामान्य जानकारी General Information of Puri

  • राज्य- उड़ीसा
  • स्थानीय भाषाएँ- उड़िया, हिंदी, बंगाली, उर्दू, अंग्रेजी
  • स्थानीय परिवहन- साइकिल रिक्शा, ऑटो रिक्शा व बस
  • पहनावा- आमतौर पर पुरुष धोती-कुर्ता पहनते हैं और साथ में गमछा लेते हैं तथा महिलायें कटकी, संबलपुरी और बोम्कई नाम की साड़ियाँ पहनती हैं
  • खान-पान- यहाँ के खानपान में एक विशेष प्रकार के मसाले का प्रयोग किया जाता है जिसे पन्चफोरन (Panch phoron) कहते हैं। इन मसालों में जीरा, सरसों, सौंफ, मेथी, कलौंजी और गरम मसाला शामिल है। पुरी में आपको बहुत आराम से बिना प्याज और लहसुन का खाना मिल जाएगा, हालांकि कुछ जगह हैं जहाँ समुद्री भोजन और मांसाहारी व्यंजनों का स्वाद भी चखा जा सकता है। छेनाचेड़ा, आलू पोटला रसा, पोहे और अरिसेलू यहाँ के लोकप्रिय स्थानीय व्यंजन हैं।
ओडिशा (Odisha) राज्य में स्थित पुरी (Puri), एक अहम धार्मिक स्थल (Religious) है। पुरी में पर्यटन (Tourism in Puri) के लिए कई प्रसिद्ध और आकर्षक स्थल (Puri Tourist Places or Paryatan Sthal Hindi) हैं जो पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। इस लेख (Travel Guide) के माध्यम से पर्यटक अपनी पुरी यात्रा (Yatra) को सुविधाजनक तरीके से प्लान कर सकते हैं।

ओडिशा के अन्य पर्यटन स्थलOther Tourist Places of Odisha

मौसम की जानकारीWeather, Temperature

Puri, Odisha

28oC

haze
Humidity94%
Sunrise05:22:15
Sunset18:07:28
और भी...

पुरी फोटो गैलरी

  • Puri Photo Gallery