Go To Top
Raftaar HomeRaftaar Home
Search
Menu
`
Menu
close button

शिव खोरी पर्यटन स्थल Shiv Khori Travel Guide

शिव खोरी (Shiv Khori)

खोरी अर्थात "गुफा", यहाँ शिव खोरी से तात्पर्य है भगवान शिव की गुफा। भगवान शिव की यह गुफा डमरू के आकार की बनी है, जो दो छोरों से चौड़ी व बीच से संकरी है। कुछ हिस्सों पर श्रद्धालुओं को झुककर प्रवेश करना होता है। शिव खोरी का प्रमुख आकर्षण स्वयं अवतरित शिवलिंग तो है ही, साथ ही यहाँ 33 करोड़ देवी देवताओं की पिंडी स्वरुप आकृतियाँ हैं जिन्हें ध्यानपूर्वक देखने पर पहचाना जा सकता है।

शिवलिंग पर चट्टानों से गिरता दूधिया द्रव्य पर्यटकों को आश्चर्यचकित कर देता है। गुफा में माँ पार्वती, भगवान कार्तिकेय, पञ्चमुखी भगवान गणेश, राम दरबार, कामधेनु, माँ काली, माँ सरस्वती और अन्य देवी देवताओं सहित पांडवों की भी पिंडियाँ   मौजूद हैं।

गुफा की छत पर ओम, त्रिशूल और छह मुखी शेषनाग के चित्रों को देखा जा सकता है। भगवान शिव की अमरनाथ गुफा की तरह इस गुफा में भी सदैव दो कबूतर रहते हैं।

शिव खोरी का इतिहास (History of Shiv Khori)

हिन्दू मान्यताओं के अनुसार भस्मासुर नामक एक दानव ने तप कर भगवान शिव से वरदान मांगा कि वह जिस किसी पर भी अपना हाथ रखेगा, वह भस्म हो जाएगा। वरदान प्राप्त कर भस्मासुर भगवान शिव को ही भस्म करने की इच्छा ले बैठा। भस्मासुर से बचने के लिए भगवान शिव इस गुफा में छुप गए थे। भगवान शिव की मदद करने के लिए भगवान विष्णु मोहिनी के अवतार में भस्मासुर के सामने प्रकट हुए और अपने जाल में फंसाकर, उसे उसके ही हाथों से भस्म करवा दिया।

सालों पहले एक चरवाहे को शिव खोरी के दर्शन हुए जब वह अपनी खोई हुई भेड़ को ढूंढते हुए यहां तक आ पहुंचा।

शिव खोरी का नक्शा Shiv Khori, Jammu, Jammu Kashmir Map

शिव खोरी कैसे पहुंचेंHow to Reach Shiv Khori

जम्मू हवाईअड्डा शहर से आठ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। जम्मू शहर का नज़दीकी रेलवे स्टेशन जम्मू तवी है। दिल्ली, अमृतसर, चंडीगढ़ से नेशनल हाईवे 1 और 1A द्वारा जम्मू तक आसानी से पहुंच सकते हैं। जम्मू के कटरा से शिव खोरी करीब 70 किलोमीटर दूर है, बस, गाड़ी या टैक्सी द्वारा लगभग 1½ - 2 घंटे में आसानी से गुफा तक पहुंचा जा सकता है। रनसू गांव से गुफा तक तीन किलोमीटर की चढ़ाई करनी पड़ती है।<>

ध्यान रखने योग्य बातेंPoints to remember

  • सामान रखने के लिए कमरों की सुविधा है
  • पॉलिथीन का प्रयोग न करें
  • कूड़ा कूड़ेदान में ही डालें
  • गुफा के पंडित काफी उदार स्वभाव के हैं, गुफा से सम्बंधित कोई भी जानकारी आप इनसे हासिल कर सकते हैं
  • चढ़ाई में असुविधा हो तो पोनी-घोड़े द्वारा भी गुफा तक पहुँच सकते हैं
  • कैमरा ले जाने से पहले अनुमति लेना अनिवार्य है
  • कम सामान लेकर यात्रा करें, जरूरत की अधिकतर वस्तुएं आपको मार्ग में ही मिल जाएंगी

रोचक तथ्यInteresting Facts of Shiv Khori

शिव खोरी एक रहस्यमय गुफा है जिसका अंतिम छोर आज तक कोई इंसान नहीं देख सका है। कहा जाता है कि शिव की यह गुफा दो पथों पर मुड़ती है, एक कश्मीर में श्री अमरनाथ गुफा तक और दूसरी स्वर्ग तक। ऑक्सीजन की कमी के कारण आज तक कोई मनुष्य इस गुफा के दूसरे छोर तक नहीं पहुंच सका। कुछ साधू साहस करके गए भी थे, लेकिन वे कभी लौटे नहीं।<>

जम्मू में स्थित शिव खोरी (Shiv Khori at Jammu) एक अहम धार्मिक (religious) पर्यटन स्थल (Tourist Place, Paryatan Sthal) है। शिव खोरी में समय (Shiv Khori Timing) का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इस लेख (Travel Guide) के माध्यम से यहाँ के इतिहास, कैसे पहुँचें, रोचक तथ्य आदि की जानकारी पर्यटकों की शिव खोरी यात्रा (Jammu Travel Guide) को पूर्ण करेगी।

शिव खोरी के निकट दर्शनीय स्थलPlaces to Visit Near Shiv Khori

जम्मू-कश्मीर के अन्य पर्यटन स्थलOther Tourist Places of Jammu Kashmir

जम्मू-कश्मीर के पर्यटन स्थलTourist Places of Jammu Kashmir

जम्मू-कश्मीर के प्रमुख पर्यटन स्थलTop Tourist Places of Jammu Kashmir