Go To Top
Raftaar HomeRaftaar Home
Search
Menu
`
Menu
close button

पर्यटन स्थल Travel Guide

फूलों की घाटी (Valley of Flower)

फूलों की घाटी (Valley of Flower) भारत के बेहद खूबसूरत राष्ट्रीय उद्यानों में से एक है। उत्तराखंड राज्य में स्थित इस घाटी में फूलों की 500 से अधिक किस्में पाई जाती हैं। इनमें से अधिकतर तो केवल इसी घाटी में मिलती हैं। प्रकृति के रंग-बिरंगे रूप को देखने के लिए यह एक नायाब जगह है। करीब 87.50 वर्ग किमी. क्षेत्र में फैली हुई फूलों की घाटी चारों तरफ से हिमालय की पहाड़ियों से घिरी है। शहर के प्रदूषण से दूर बसी यह जगह प्रकृति के सबसे कोमल उपहार यानि फूलों के पनपने की सबसे उपयुक्त जगह मानी जाती है। पर्यटक फूलों की घाटी में सिर्फ फूल ही नहीं कई प्रकार के जानवर जैसे भूरे भालू, हिमालयन हिरण, चीते आदि भी देख सकते हैं। रंग-बिरंगी तितलियों की तो यहां कोई गिनती ही नहीं है। 

फूलों की घाटी का इतिहास (History of Valley of Flowers)

फूलों की घाटी को ढूंढ़ने का श्रेय ब्रिटिश पर्वतारोही फ्रैंक एस स्मिथ को जाता है। 1931 में जब स्मिथ अपने दोस्तों के साथ कामेट पर्वत से लौट रहे थे उस दौरान उन्हें यह जगह मिली। इस जगह की सुंदरता से वह इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने इस बारे में अन्य लोगों को बताया और दोबारा इस जगह आए। अपने जीवन में उन्होंने एक किताब भी लिखी जिसका शीर्षक था "द वैली ऑफ फ्लावर्स"। किंवदंती है कि रामायण काल में हनुमान संजीवनी बूटी की खोज में इसी घाटी में आए थे। फूलों की घाटी को सन 1982 ई. में राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया था और यूनेस्को ने वर्ष 2005 में इसे विश्व विरासत का दर्जा दिया। 

फूलों की घाटी का नक्शा Valley of Flower, Badrinath, uttarakhand Map

कैसे पहुंचेंHow to Reach

यहाँ पहुँचने के लिए नजदीकी हवाई अड्डा देहरादून का जॉली ग्रांट हवाई अड्डा है जबकि यहाँ से नजदीकी रेलवे स्टेशन ऋषिकेश में है। जहाँ से बस या टैक्सी द्वारा गोविन्दघाट पहुंचा जा सकता है । यहाँ से फूलों की घाटी सिर्फ 13 किलोमीटर दूर है। बद्रीनाथ और हेमकुंड साहिब की यात्रा पर आए श्रद्धालु फूलों की घाटी अवश्य घूमने आते हैं।<>

ध्यान रखने योग्य बातेंPoints to remember

  • पार्क के अंदर चाकू या नुकीली चीज ले जाना मना है
  • फूलों को तोड़ना या जानवरों को नुकसान पहुंचाने की सख्त मनाही है
  • अधिक रंग-बिरंगे कपड़े पहनने से बचना चाहिए क्योंकि हो सकता है जानवर इन कपड़ों को देखकर दूर भागें
  • फूलों की इस रंग-बिरंगी दुनिया के अपने सफ़र को यादगार बनाने के लिए कैमरा ले जना न भूलें

रोचक तथ्यInteresting Facts of Valley of Flower

मान्यता है कि फूलों की घाटी में हर 12 साल के बाद ब्रह्म कमल नाम का एक फूल उगता है। साथ ही लोगों का यह भी मानना है कि रामायण काल में जिस संजीवनी बूटी से लक्ष्मण जी ठीक हुए थे वह आज भी इस पहाड़ी पर उगती है।<>

में स्थित ( at ) एक अहम () पर्यटन स्थल (Tourist Place, Paryatan Sthal) है। में समय ( Timing) का विशेष ध्यान रखना चाहिए। इस लेख (Travel Guide) के माध्यम से यहाँ के इतिहास, कैसे पहुँचें, रोचक तथ्य आदि की जानकारी पर्यटकों की यात्रा ( Travel Guide) को पूर्ण करेगी।

पर्यटन स्थल खोजें

फूलों की घाटी के निकट दर्शनीय स्थलPlaces to Visit Near Valley of Flower